Supta vajrasana hindi

सुप्त-वज्रासन आसन इस आसन से होने वाले फायदे

Posted by

सुप्त-वज्रासन  आसन

सुप्त-वज्रासन आसन




“सुप्त” का अर्थ है “सोया हुआ” |

इस आसन में वज्रासन लगा कर पीछे की ओर, पीठ के बल सो जाते हैं |

इसलिए इस आसन का नाम “सुप्त-वज्रासन”है |

इस आसन में गर्दन पीछे की और मोड़ने के स्थान पर सीधी रखते हुए पीठ को भूमि के साथ लगाकर हाथों को जाधों पर रखने की बजाए सिर के निचे रख लेते है |

श्वास-प्रस्वास साधारण गति से लेते रहिए| पूण स्थिति में जीतनी देर बिना बल प्रयोग किए सरलतापूर्वक रुक सकते है, रुकें |

कोहनियों का सहारा लेते हुए वापस उठ जाएं और फिर टांगे खोलकर शवासन करे |

 

इस आसन से होने वाले फायदे

  • इस आसन से वज्रासन तथा योग-मुद्रा दोनों के लाभ मिल जाते है |



Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *